Home Big Grid पटना, मुजफ्फरपुर और गया में वायु प्रदूषण देने लगा खतरे का संकेत

पटना, मुजफ्फरपुर और गया में वायु प्रदूषण देने लगा खतरे का संकेत

433
0
SHARE

बीडीएन,पटना

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने पटना मुजफ्फरपुर और गया जिलों में पोलूशन के क्वालिटी में हो रहे गिरावट को ध्यान में रखते हुए तीनों शहरों के लिए विशेष निर्देश जारी किया है. तीनो शहरों की दूषित हवा चेतावनी दे रही है. इसे देखते हुए बोर्ड द्वारा तीनों जिलों के जिलाधिकारियों को यह निर्देश दिया गया है कि वह अपने शहर में वायु प्रदूषण की रोकथाम के लिए शहर के स्पेशल एक्शन प्लान का क्रियान्वयन करें. इसके साथ ही हर महीने इसकी बैठक हो जिसमें यह देखा जाए की वायु प्रदूषण नियंत्रण की दिशा में क्या-क्या किया गया. बोर्ड ने वायु प्रदूषण के हानिकारक प्रभावों से आम जनता को संवेदनशील बनाने और इसके नियंत्रण हेतु सहयोग प्राप्त करने का भी निर्देश दिया गया है

सभी जिलाधिकारियों को दिया गया निर्देश

कचरा टायर पुआल और गन्ने के डंठल जलाने पर रोक लगाने का प्रदूषण बोर्ड ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है. राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने शनिवार को सभी जिलाधिकारियों को प्रदूषण नियंत्रण में सहयोग करने के लिए पत्र लिखा है. पत्र में सभी जिलाधिकारियों से कहा गया है कि वह खुले में जलाए जाने वाले ठोस कचरा टायर और बागवानी से निकले सामग्रियों के जलाने पर रोक लगाई जाए . बोर्ड ने नगर निकायों में कचरे के डंपिंग साइड में भी आग नहीं लगाने का निर्देश दिया है. बोर्ड ने स्पष्ट किया है कि जितने भी वाहन चलाए जा रहे हैं उनके मानको के पालन के लिए नियमित जांच की जाए . भारी वाहनों का नगर क्षेत्र में बिना प्रमाण पत्र और फिटनेस सर्टिफिकेट के प्रवेश पर वर्जित लगाया जाए.

बोर्ड ने जिला कृषि पदाधिकारी ओं से जन चेतना जागृत करने के लिए कहा है जिस में कृषि मेलों के माध्यम से किसानों को अपने खेतों में कृषि जनित वाल खरपतवार एक का डंठल और पतियों को नहीं जलाने के लिए प्रोत्साहित करने का निर्देश दिया है इसी तरह से सॉरी क्षेत्र के मुख्य सड़कों पर जल छिड़का की व्यवस्था करने और सफाई के दौरान कचरा और धूल कणों की नियमित उठाव करने को कहा है सड़कों पुलों के निर्माण या मरम्मत के दौरान उसको घेरकर और नियमित पानी का छिड़काव करने की व्यवस्था की जाए जितने भी निर्माण एजेंसी या संस्था है उनको कहा गया है कि वह निर्माण स्थल को ढक कर कार्य करें अगर कोई एजेंसी या कॉन्ट्रैक्टर इसका पालन नहीं करता तो उसके ऊपर अविलंब कार्रवाई की जाए इसके अलावा बालू गिट्टी मिट्टी के ट्रांसपोर्टेशन को ढककर करने का निर्देश भी दिया गया है निजी वाहनों के उपयोग के बदले यह सुझाव दिया गया है कि सार्वजनिक परिवहन को बढ़ावा दिया जाए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने सभी पुराने डीजल जनरेटर सेट को बंद करने का निर्देश दिया है इसके अलावा बोर्ड ने डीजल एवं पेट्रोल चालित टेंपू के स्थान पर ई-रिक्शा को प्रोत्साहित करने को भी कहा है

LEAVE A REPLY