Home Big Grid राहत के लिये ग्रामीणों ने प्रखंड कार्यालय में काटा बवाल

राहत के लिये ग्रामीणों ने प्रखंड कार्यालय में काटा बवाल

729
0
SHARE

सीके गुप्ता,बेतिया

बाढ़ राहत की राशि नहीं मिलने से नाराज मुसहरी सेनवरिया पंचायत के ग्रामीणों ने मंगलवार को जिले के प्रखंड चनपटिया कार्यालय में जम कर बवाल काटा। आक्रोशित ग्रमीणों ने चनपटिया प्रखंड व अंचल कार्यालय में तालाबंदी कर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। मौके पर सीओ एवं बीडीओ के नहीं होने से उनका गुस्सा और भड़क गया और वे कार्यालय में तोड़ फोड़ पर उतारू हो गए। ग्रामीण नितेश सिंह , कुंदन सिंह , गोविन्द साह , हरिहर साह , रेशमा देवी , उमा देवी , कौशल्या देवी , मुन्ना मियां , रज्जाक मियां , गोखुल राम , भिखारी मांझी , सुखाड़ी मांझी , सुदर्शन मांझी आदि ने बताया कि पंचायत के सात वार्डों में बाढ़ राहत राशि का वितरण नहीं किया जा रहा है। अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ भी उन्हें नहीं मिल पा रहा है। बाढ़ से सर्वाधिक प्रभावित रहने के बाद भी उनके पंचायत को राहत देने में प्रशासनिक स्तर से भेदभाव किया जा रहा है। कई बार दौड़ने के बाद अंचल कार्यालय में सीओ से उनकी भेंट नहीं हो पाती है। मिलते भी हैं तो सिर्फ आश्वासन देकर उन्हें टरका देते हैं। मंगलवार को सैकड़ों की संख्या में कार्यालय में पहुंचे ग्रामीणों ने सीओ को नहीं पाया तो उनका धैर्य टूट गया और वे बवाल काटने लगे। उनके हंगामे से प्रखंड कार्यालय में अफरातफरी मच गयी। गुस्साए ग्रामीणों ने कार्यालय के मुख्य द्वार में ताला लगा दिया और प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी करने लगे। उन्होंने आरोप लगाया कि सीओ उनकी समस्या पर संवेदनहीन बने हुए हैं। उनसे कार्यालय में भेंट होती ही नहीं है ताकि वे अपनी समस्या से उन्हें अवगत करा सकें। उनके पंचायत की प्रखंड कार्यालय की दूरी 10 किलोमीटर से अधिक है। इतनी दूरी तय कर अंचल कार्यालय आते हैं तो सीओ से उनकी मुलाकात नहीं हो पाती है। सबसे ज्यादा परेशानी औरतों को झेलनी पड़ती है। इस वजह से ग्रामीणों में बहुत आक्रोश है। आक्रोशित ग्रामीण घंटों कार्यालय परिसर में जमे रहे। बाद में पुलिस ने उन्हें समझा बुझा कर शांत कराया ।

LEAVE A REPLY