Home Big Grid जलमग्न हुआ सीमावर्ती क्षेत्र चंपारण

जलमग्न हुआ सीमावर्ती क्षेत्र चंपारण

834
0
SHARE

विजय कुमार, रक्सौल

भारत-नेपाल सीमावर्ती सिकटा,मैनाटांड़,नरकटियागंज,गौनाहा आदि क्षेत्रों में आई प्रलयंकारी बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है।ओरिया नदी के बांध टूट जाने से लाइन परसा,शिकारपुर,जगिरहा,मिलपरसा,सड़किया टोला,भौरी,सोनारा टोला,लक्ष्मीपुर,ब्रदही,सिकटा बाजार,हसनपुरा,ब्लॉक परिसर,धर्मपुर आदि सहित दर्जनों गांवो में बाढ़ ने अपना रौद्र रूप दिखाया है।लोग काफी परेशान है।इधर,रक्सौल में तिलावे व गड नदियों ने लक्षमनवा,सिसवा,सौनाहा,गाद गम्हरिया,मस्वास्,जोकियारी,चिकनी,हरैया,पनटोका आदि गांवों में भी तबाही मचाई है।रक्सौल नगर परिषद क्षेत्र के लोग भी इस वर्ष प्रलयंकारी बाढ़ के दीदार किये है।ब्लॉक,अनुमंडल मुख्यालय में करीब चार फीट बाढ़ का पानी घुस गया है।आश्रम रोड,हरैया एयर पोर्ट,भरतम्ही,धूपवा टोला,कोइर्आया टोला,छोटका व बड़का परेउवा,मौजे,मछली बाजार,तुमडिया टोला,प्रेमनगर,अहिरवा टोला,इस्लामपुर मुहल्ला भी बाढ़ से तबाह हुए है।आदापुर में आई प्रलयंकारी बाढ़ में डूबने से एक बालक सहित दो व्यक्तियों की डूबकर मौत हो गयी है।शनिवार की देर रात मूर्तिया(ठकुराई टोला)गांव निवासी जुमाई मिया(30 वर्ष) अपने घर से निकला।इसी दौरान पानी के तेज बहाव की चपेट में आकर डूब गया,जिसकी मौके पर ही मौत हो गयी।इधर,हरपुर थाना क्षेत्र के बेलवा गांव में बाढ़ की चपेट में आकर एक 13 वर्षीय बालक की मौत हो गयी है।प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक,रविवार की सुबह उक्त थाना क्षेत्र के बेलवा गांव के तेज गिरी का तेरह वर्षीय पुत्र सत्यम कुमार रेलवे स्टेशन आदापुर से अपने घर बेलवा आ रहा था कि गांव के पश्चिम स्थित रेलवे समपार के पास सड़क पर हो रहे बाढ़ के पानी के बहाव की चपेट में आ गया और उसकी प्रवाहित तीव्र धारा की आवेग में बह गया।हो-हल्ला पर कुछ सजग लोगों ने पानी में कूदकर उसे निकाला।तब तक काफी देर हो चुकी थी।आनन्-फानन में उसे स्थानीय पीएचसी में ईलाज के लिए लाया गया।जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया है,हालाँकि अभी भी परिजन उसे डंकन अस्पताल रक्सौल ले जाने की तैयारी में है।इधर,हरपुर गांव के चन्द्रभूषण साह का पक्का मकान बंगरी नदी की बाढ़ से ध्वस्त हो जल में विलीन हो गया है।इस गांव के करीब 70 घर बाढ़ की भेंट चढ़ गए है।मुखिया अरविन्द कुमार प्रसाद ने बताया कि हरपुर पंचायत के नायक टोला,हरपुर,रामपुर गांव पर बंगरी व कड़िया नदी की बढ़ कहर बनकर टुटा है।नकरदेई पंचायत के मुखिया अनिल कुमार गिरी ने बताया कि बंगरी नदी की बाढ़ से नकरदेई प्रति टोला नदी की मुख्य धरा में सम्माहित हो गया है।बसंतपुर,नकरदेई,वृता,अम्बेडकरनगर,भकुरहियां,मुशहरवा गांव के करीब साढ़े चार सौ घर बाढ़ से क्षतिग्रस्त हो गए है।दुधौरा नदी का पश्चिमी तटबंध भी करीब 50 फीट टूट गया है।लतियाही,बरैया टोलाअंधरा पकही सहित कई गांव जलमग्न हो गया है।रामगढ़वा एनएच-28 ए पर करीब चार फीट पानी बह रहा है।रामगढ़वा में तिलावे नदी व बंगरी नदी का तटबंध मुशहरी गांव के समीप टूट गया है।करोड़ों की फसलों को नुकशान पहुंचा है।छौड़ादानो में तिय र नदी ने तबाही मचाई है।बिंदवासिनी व लक्ष्मणनगर गांव पर नदी के कटाव का खतरा बढ़ गया है।कटाव के कारण गांव के अस्तित्व पर भारी खतरा है।भवानीपुर,भैरवाटोला,चैनपुर महादलित बस्ती,पोखरिया,बरवाडीह,बिष्णुपुरवा गांव भी बाढ़ में जलमग्न है।बंगरी नदी का पूर्वी तटबंध पोखरिया गांव से दक्षिण व चैनपुर गांव के समीप करीब चार जगहों पर टूट गया है।वही झिटकहिया व बखरी गांव के समीप घोड़ासहन शाखा नहर के बांध भी करीब 50 फिट टूटे है।जगह-जगह नहर पथ पर पानी ओवर फ्लो कर रहा है।बीडीओ सह सीओ प्रभातरंजन ने बताया कि पीड़ितों को सुरक्षित स्थानों पर अस्थाई कैम्पों में लाया जा रहा है।ऊँचे स्थान व स्कूलों को अस्थायी पड़ाव स्थल बनाया गया है।जहां तत्काल प्रभाव से चूड़ा-गुड़ खाने के व किरासन जलाने के लिए मुहैया कराये जा रहे है। इसकी पुष्टि करते हुए एसडीओ श्रीप्रकाश ने कहा कि मृतक के परिजनों को राहत देने की प्रक्रिया जारी है।इधर,इस घटना से परिजनों में कोहराम मच गयी है।

LEAVE A REPLY