Home Big Grid बिहार में सभी फेज की मेडिकल पीजी काउंसेलिंग रद्द

बिहार में सभी फेज की मेडिकल पीजी काउंसेलिंग रद्द

3238
0
SHARE

बीडीएन,पटना

राज्य के सरकारी मेडिकल कालेज अस्पतालों में पीजी कोर्स की पहले की सभी काउंसेलिंग को शुक्रवार को रद्द कर दिया गया . इन सीटों पर फिर से 28 व 29 मई को नये सिरे से कंबाइंड काउंसेलिंग होगी. हर छात्र को एक काउंसेलिंग और एक विकल्प मिलेगा.  बिहार संयुक्त  प्रवेश प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद (बीसीइसीइबी)  द्वारा काउंसेलिंग में आरक्षण के प्रावधानों को लेकर बड़े पैमाने पर गड़बड़ी पायी गयी. इसके बाद सरकार ने सभी चरणों की काउंसेलिंग को रद्द कर दिया है.

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव आर के महाजन ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि वर्ष 2017-18 शैक्षणिक सत्र के लिए बीसीइसीइबी द्वारा पहले चरण की काउंसेलिंग पूरी कर ली गयी थी. दूसरे चरण की काउंसेलिंग में विवाद हो गया था. विभाग ने छात्रों से मिली शिकायतों के बाद पाया कि पहले और दूसरे चरण की काउंसेलिंग में नियमों का पालन नहीं किया गया है. इसे देखते हुए दोनों चरणों की काउंसेलिंग को रद्द कर दिया गया है. राज्य में पीजी मेडिकल की कुल 449 सीटें हैं. इसमें 350 सीटें डिग्री कोर्स के लिए जबकि 99 सीटें डिप्लोमा कोर्स की हैं. प्रधान सचिव ने बताया कि राज्य की कुल 449 सीटों में केंद्रीय कोटा से राज्य को  डिग्री कोर्स की 136 सीटें और डिप्लोमा कोर्स की 32 सीटें प्राप्त हुई है. बीसीइसीइबी द्वारा अब सभी 449 सीटों के लिए नये सिरे से कंबाइंड काउंसेलिंग की जायेगी. इसमें एक बार जो छात्र अपने वर्ग की सीटों का चयन कर लेगा उसे फिर से वर्ग बदलने की छूट नहीं होगी. आरक्षित वर्ग के विद्यार्थियों के लिए यह बाध्यता हो जायेगी कि वह या तो अपने कोटि की सीटों पर नामांकन ले या मेरिट की सीटों पर. काउंसेलिंग में उनको पूरी जानकारी दे दी  जायेगी. एक बार जब कोई आरक्षित वर्ग का विद्यार्थी अपनी सीट का विकल्प चुन लेता है तो फिर उसे दोबारा किसी सीट पर काउंसेलिंग का  मौका नहीं मिलेगा. हर विद्यार्थी को एक ही चांस और एक विकल्प मिलेगा जिसमें वह अपनी सीट और विकल्प को चुन ले. विकल्प चुनने के बाद वह उसका अंतिम विकल्प होगा. उन्होंने बताया कि जो विद्यार्थी पहली और दूसरी काउंसेलिंग में किसी भी सरकारी मेडिकल कालेज में नामांकन ले चुके हैं उनको दोबारा नामांकन शुल्क देने की आवश्यकता नहीं होगी. काउंसेलिंग के दिन सभी मेडिकल कालेज अस्पतालों के प्राचार्यों को बिहार राज्य परिवार कल्याण संस्थान, शेखपुरा में बुलाया गया है. सभी छात्रों का पटना में ही नामांकन किया जायेगा. साथ ही जिन छात्रों का पहले नामांकन हो चुका है अगर उनका कालेज स्थानांतरित करने की आवश्यकता होगी तो उसी दिन संबंधित कालेज में नामांकन भी करा दिया जायेगा. सभी प्राचार्य काउंसेलिंग के दौरान पटना में ही कैंप करेंगे. उन्होंने स्वीकार किया कि हो सकता है कि कंबाइंड काउंसेलिंग में कुछ विद्यार्थी इस रेस से बाहर हो जाये. पर इस बार की काउंसेलिंग प्रावधानों के अनुरूप होगी.

LEAVE A REPLY