Home Big Grid IAS सुधीर कुमार को भेजा गया फुलवारी जेल

IAS सुधीर कुमार को भेजा गया फुलवारी जेल

687
0
SHARE
बीडीएन रिपोर्टर, पटना, बीएसएससी पेपर लीक मामले में आयोग के चेयरमैन आइएएस अधिकारी सुधीर कुमार को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में पटना के फुलवारी जेल भेज दिया गया. उनको शुक्रवार को हजारीबाग से गिरफ्तार किया गया था. पटना लाने के बाद शुक्रवार की देर रात एसीजेएम ख्याति सिंह के आवास पर उनकी पेशी की गयी. वहां से उनको 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया. इससे पहले उनके साथ गिरफ्तार किये गये पांच लोगों को शाम पांच बजे पटना सिटी व्यावहार न्यायालय में पेश किया गया. सभी पांचों को वहीं से जेल भेज दिया गया. इन पांच लोगों में सुधीर कुमार के भाई अवधेश कुमार, अवधेश कुमार की पत्नी मंजू देवी, भांजा आशीष कुमार, सज्जाद अहमद और आइटी मैनेजर नीति रंजन प्रताप शामिल हैं. सज्जाद प्रश्नपत्रों की दलाली करता था. गिरफ्तारी के बाद एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि सुधीर कुमार की गिरफ्तारी ठोस आधार पर की गयी है. एसएसपी के अनुसार सुधीर कुमार ही इसके मुख्य सूत्रधार हैं. उनके दो भांजे आशीष और अनिल समेत उनकी भाभी तथा एक और रश्तिेदार भी बीएसएससी परीक्षा में शामिल होनेवाला था. इस मामले का खुलासा तब हुआ जब जब आयोग का पर्चा ह्वाट्सअप पर एक-दूसरे जगह पर पहुंचने लगा. कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा 8 फरवरी को हुई थी. अहमदाबाद के जिस प्रिंटिंग प्रेस के प्रश्न पत्र छापा था उसके मालिक को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. एसआइटी इसके एक-एक लिंक की तलाश शुरू की जो उसकी कड़ी जुड़ती गयी. इससे ही पता चला कि सुधीर कुमार के रश्तिेदार मंजू सिंह, भांजे आशीष सहित पांच रश्तिेदार परीक्षा दे रहे हैं. इसकी निशानदेही पर ही मामला सुधीर कुमार तक पहुंचा. एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि सुधीर कुमार के भांजे आशीष कुमार ने बताया कि प्रश्न पत्र उनके नाना द्वारा दिया गया.
आइएएस एसोसिएशन ने एसआइटी जांच पर उठाया सवाल
मामले की गंभीरता देखते हुए आइएएस एसोसिएशन सुधीर कुमार के बचाव में उतरा. एसोसिएशन ने शुक्रवार को शाम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की. एसोसिएशन ने कहा कि एसआइटी की जांच पर उसको भरोसा नहीं है. इस पूरे मामले की जांच सीबीआइ से करायी जाये.

LEAVE A REPLY